रात में बार-बार नींद टूटने का क्या है कारण, जानिए

0
282
views

यदि आप रात में सोने के बाद खुद को बार-बार जगा हुआ महसूस करते हैं तो इस मामले में आप अकेले नहीं है। क्योंकि नेशनल स्लीप फाउंडेशन के एक सर्वे के अनुसार लगभग दो-तिहाई अमेरिकियों का ये दावे के साथ कहना है कि वो रात के समय में पर्याप्त नींद नहीं ले पाते हैं। सोने के मामले में इस तरह की दखलअंदाजी आने के पीछे सेलफोन या कंप्यूटर को दोषी माना जा सकता है।

मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि सोने के लिए बेड पर जाने से पहले अपने फोन का इस्तेमाल करने से आपके स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इसका पता लगाने के लिए वैज्ञानिकों ने 4,100 युवा वयस्कों पर अध्ययन किया जिनको रात के समय सोने के दौरान नींद सही से ना लेने की शिकायत थी।

रात में बार-बार नींद टूटने का क्या है कारण, जानिए

नियमित रूप से रात के समय में कंप्यूटर का इस्तेमाल करने से न केवल सोने में दिक्कत आती है बल्कि इसके साथ तनाव जैसे लक्षणों के भी बढ़ने का खतरा रहता है। नींद के मामले में इस तरह की शिकायत पुरुषों और महिलाओं दोनों में ही पाई जाती है। इसके अलावा यह पता चला है कि वीडियो गेम, सेलफोन और इंटरनेट जैसी इंटरैक्टिव टेक्नोलॉजी हमारे दिमाग को काफी प्रभावित करती है।

सेलफोन और कंप्यूटर हमारी नींद में हस्तक्षेप करने के साथ-साथ नींद को लाने के लिए जो मेलेटनिन हार्मोन जो कि नींद को लाने का काम करते हैं उनके उत्पादन भी रोक देते हैं। अंत में वैज्ञानिकों ने कहा कि हमें ज्यादातर सेलफोन और कंप्यूटर का इस्तेमाल रात में करने से बचना चाहिए क्योंकि इससे आपको एक अच्छी नींद का आनंद मिल सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here